Facebook

Romantic Love, Friendship Shayari Hindi mai - रोमांटिक प्रेम, दोस्ती शायरी हिंदी माई

Hi Friend's  आज मैं Romantic love shayari और Friendship Shayari Hindi mai  शायरी संग्रह लेकर आया हूं।

 शायरी जगत पर यह Romantic love shayari और Friendship shayari hindi mai भी गूगल पर ज्यादातर सर्च करने वाले टॉपिक है।

इस प्रकार के सायरी ज्यादातर लड़का लड़की लोग पसंद करता है अपना दिल का बात लड़का से लड़की को लड़की से लड़का को शेयर करके अपना दिल खुश बनाने की कोशिश करता है। 

हम भी छोटे-छोटे शायरी लेकर आया है आपको पसंद आया तो जरूर शेयर करिएगा शायरी इस प्रकार है।

https://www.nepalishayari.com/2020/03/heart-touching-motivational-new.html
happy shayari


Love Shayari in Hindi


चेहरे पर बनवाट का गुस्सा
आँखों से छलकता प्यार भी है
इस शौक-ऐ-अदा को क्या कहिये
इंकार भी है इकरार भी है

chehare par banavaat ka gussa
aankhon se chhalakata pyaar bhee hai
is shauk-ai-ada ko kya kahiye
inkaar bhee hai ikaraar bhee hai
दिल की यादों में संवारु तुझे
तू दिखे तो आँखों में उतारूं तुझे
तेरे नाम को लबों पर ऐसे सजाऊँ
सो जाऊं तो ख्वाबों में पुकारूँ तुझे
dil kee yaadon mein sanvaaru tujhe
too dikhe to aankhon mein utaaroon tujhe
tere naam ko labon par aise sajaoon
so jaoon to khvaabon mein pukaaroon tujhe

चाहत की एक लकीर
तुम्हारे नाम करना चाहते है
आज अरमा दिल के
तुम्हे बया करना चाहते है ।

chaahat kee ek lakeer
tumhaare naam karana chaahate hai
aaj arama dil ke
tumhe baya karana chaahate hai .

तुम्हारे शहर का मौसम बड़ा सुहाना लगे;
मैं एक शाम चुरा लूँ अगर बुरा न लगे;
तुम्हारे बस में अगर हो तो भूल जाओ हमें;
तुम्हें भुलाने में शायद मुझे ज़माना लगे!

tumhaare shahar ka mausam bada suhaana lage;
main ek shaam chura loon agar bura na lage;
tumhaare bas mein agar ho to bhool jao hamen;
tumhen bhulaane mein shaayad mujhe zamaana lage!

प्यार और मौत से डरता कौन है…
प्यार तो हो जाता हे इसे करता कौन है…..!!
हम तो कर दे प्यार मे जान भी
क़ुरबान…
पर पता तो चले हमसे प्यार करता कौन है…….!!

pyaar aur maut se darata kaun hai…
pyaar to ho jaata he ise karata kaun hai…..!!
ham to kar de pyaar me jaan bhee
qurabaan…
par pata to chale hamase pyaar karata kaun hai…….!!

रोमांटिक प्रेम (Romantik Prem)


जब देखा गुलाब अक्स इश्क का
नज़र आ गया
काँटों सी दुश्वारियां फिर भी
रूह महका गया
कैसे बाँधू मुहब्बत को
दिनों के पिंजरे में
जो दिनोरात महबूब को
दीवानी बना गया.

jab dekha gulaab aks ishk ka
nazar aa gaya
kaanton see dushvaariyaan phir bhee
rooh mahaka gaya
kaise baandhoo muhabbat ko
dinon ke pinjare mein
jo dinoraat mahaboob ko
deevaanee bana gaya.

डर से जादा तेरे करीब आने को जी करता है,
तेरे होठों को होठों से छू जाने को जी करता है,
तुम हो मेरे बेताब दिल की धड़कन
तुम्हें अपना बनाने को जी करता है 
dar se jaada tere kareeb aane ko jee karata hai,
tere hothon ko hothon se chhoo jaane ko jee karata hai,
tum ho mere betaab dil kee dhadakan
tumhen apana banaane ko jee karata hai

लम्हों की एक खुली एक किताब है जिन्दगी,
सांसों और ख्यालों का हिसाब है ज़िंदगी,
कुछ ज़रूरतें पूरी कुछ ख्वाहिशें
अधूरी,
बस इन्हीं सवालों का जवाब है ज़िंदगी।

lamhon kee ek khulee ek kitaab hai jindagee,
saanson aur khyaalon ka hisaab hai zindagee,
kuchh zarooraten pooree kuchh khvaahishen
adhooree
bas inheen savaalon ka javaab hai zindagee.


दोस्ती शायरी (Dosti Shayari)


इस मुस्कराहट के पीछे
किस गम को छुपाये बैठे हो
यूँ किसका इन्तजार है
जो बरसो से चराग जलाये बैठे हो
खूबसूरती देख लगता है
कई दिलो से खेला है तुमने
और अब किसी बेवफा से
दिल लगाये बैठे हो

is muskaraahat ke peechhe
kis gam ko chhupaaye baithe ho
yoon kisaka intajaar hai
jo baraso se charaag jalaaye baithe ho
khoobasooratee dekh lagata hai
kaee dilo se khela hai tumane
aur ab kisee bevapha se
dil lagaaye baithe ho


धोखा दिया था जब तूने मुझे,
जिंदगी से मैं नाराज था,
सोचा कि दिल से तुझे निकाल दू,
मगर कंबख्त दिल भी तेरे पास था।

dhokha diya tha jab toone mujhe,
jindagee se main naaraaj tha,
socha ki dil se tujhe nikaal doo,
magar kambakht dil bhee tere paas tha.

हर नाम कोशिश की तुमको पाने की
फिर भी तुमको पा नही सका
लाख सुर में  ताल मिलाए
फिर भी नगमा तेरी वफा का गा नही सका

har naam koshish kee tumako paane kee
phir bhee tumako pa nahee saka
laakh sur mein  taal milae
phir bhee nagama teree vapha ka ga nahee saka


शायरी खुदखूशी का धंधा है
अपनी ही लाश अपना ही कंधा।
आईना बेचता फिरता है शायर
उस शहर में जो शहर ही है अंधा

shaayaree khudakhooshee ka dhandha hai
apanee hee laash apana hee kandha.
aaeena bechata phirata hai shaayar
us shahar mein jo shahar hee hai andha


शायरों की महफ़िल में बात चली एक दीवाने की,
दिन रात जलने वाले एक पागल परवाने की,
मैने सोचा कोई और होगा ये सरफिरा,
देखा तो ऊँगली मेरी तरफ उठी ज़माने की…!!

shaayaron kee mahafil mein baat chalee ek deevaane kee,
din raat jalane vaale ek paagal paravaane kee,
maine socha koee aur hoga ye saraphira,
dekha to oongalee meree taraph uthee zamaane kee…!!


बेस्ट लव शायरी (Best Love Shayari)


तुम खुद नही जानते तुम कितनी प्यारी हो,
जान हो हमारी पर जाब से प्यारी हो,
दूरियां के होने से कोई फर्क नही पड़ता,
तुम कल भी मेरी थी आज भी मेरी हो…!!!

tum khud nahee jaanate tum kitanee pyaaree ho,
jaan ho hamaaree par jaab se pyaaree ho,
dooriyaan ke hone se koee phark nahee padata,
tum kal bhee meree thee aaj bhee meree ho…!!!


जिंदगी जीने के लिये है,
हंसकर जीना सनम,
देने वाले गम भी देते हैं,
संभलकर चलना सनम।

jindagee jeene ke liye hai,
hansakar jeena sanam,
dene vaale gam bhee dete hain,
sambhalakar chalana sanam.

जिंदगी हर लम्हा गुजार दिया तन्हाईयों में,
ऐसा तोहफा मिला प्यार में वीरानियों का,
मेरे बाद उन्हें सुकून को बदलते रहना पडा़,
लानत उनको जिनकी गुजरी शहनाईयों में।
jindagee har lamha gujaar diya tanhaeeyon mein,
aisa tohapha mila pyaar mein veeraaniyon ka,
mere baad unhen sukoon ko badalate rahana pada
laanat unako jinakee gujaree shahanaeeyon mein.


कितना प्यार करूँ तुझसे
जो तूँ हमेशा के लिए मेरी हो जाये
अब करता हूँ रब से एक ही फ़रियाद
की मेरी बची साँसे भी तेरी हो जाये

kitana pyaar karoon tujhase
jo toon hamesha ke lie meree ho jaaye
ab karata hoon rab se ek hee fariyaad
kee meree bachee saanse bhee teree ho jaaye


मुझे  उदास  देख  कर  उसने  कहा
मेरे  होते  हुए  तुम्हे  कोई  दुःख  नहीं  दे  सकता ,
फिर  कुछ  ऐसा  ही  हुआ  बाद  में
जितने  भी  दुःख  मिले  सब  उसी  के  हुए

mujhe  udaas  dekh  kar  usane  kaha
mere  hote  hue  tumhe  koee  duhkh  nahin  de  sakata ,
phir  kuchh  aisa  hee  hua  baad  mein
jitane  bhee  duhkh  mile  sab  usee  ke  hue

आँखों में रहा दिल में उतर कर नहीं देखा
कश्ती के मुसाफिर ने समंदर नहीं देखा
पत्थर मुझे कहता है मेरा चाहने वाला
मैं मोम हूँ उसने मुझे छू कर नहीं देखा
aankhon mein raha dil mein utar kar nahin dekha
kashtee ke musaaphir ne samandar nahin dekha
patthar mujhe kahata hai mera chaahane vaala
main mom hoon usane mujhe chhoo kar nahin dekha

लबों पे शिकायत आँखों में प्यार,
ज़रा सा इश्क ,ज़रा सी तकरार।
तेरी हँसी से जीवन में झंकार
और क्या चाहिए।

labon pe shikaayat aankhon mein pyaar,
zara sa ishk ,zara see takaraar.
teree hansee se jeevan mein jhankaar
aur kya chaahie.

हर दोस्त से अच्छी बात करना फितरत है हमारी,
हर दोस्त खुश रहे हसरत है हमारी,
कोई हमें याद करे ना करे
हर दोस्त को याद करना आदत है हमारी…

har dost se achchhee baat karana phitarat hai hamaaree,
har dost khush rahe hasarat hai hamaaree,
koee hamen yaad kare na kare
har dost ko yaad karana aadat hai hamaaree…

दोस्ती करो हमेशा मुस्कुरा के!
किसी को धोखा ना दो अपना बना के!
कर लो याद जब तक हम जिंदा है!
फिर ना कहना चले गए दिल में यादें बसा के..

dostee karo hamesha muskura ke!
kisee ko dhokha na do apana bana ke!
kar lo yaad jab tak ham jinda hai!
phir na kahana chale gae dil mein yaaden basa ke..

अपनी जिंदगी में हमने तेरी जरूरत देखी है,
तेरी आँखों में हमने अपने लिए मोहब्बत देखी है,
जितनी बार खुद को भी नही देखा होगा,
उतनी बार हमने तेरी सूरत देखी है..!

apanee jindagee mein hamane teree jaroorat dekhee hai,
teree aankhon mein hamane apane lie mohabbat dekhee hai,
jitanee baar khud ko bhee nahee dekha hoga
utanee baar hamane teree soorat dekhee hai..!!

किसी और की बाहों में रहकर,
वो हम से वफा की बात करते हैं...!!!!
ये कैसी चाहत है यारों...?
वो बेवफा है जानकर भी,
हम उन्हीं से ही प्यार करते हैं...

kisee aur kee baahon mein rahakar,
vo ham se vapha kee baat karate hain...!!
ye kaisee chaahat hai yaaron...?
vo bevapha hai jaanakar bhee,
ham unheen se hee pyaar karate hain....

इंतज़ार की आरज़ू अब खो गयी है,
 खामोशियो की आदत हो गयी है,??
 न शिकवा रहा न शिकायत किसी से,
 अगर  है तो एक   मोहब्बत,
 जो इन तन्हाइयों से हो गई है...
intazaar kee aarazoo ab kho gayee hai,
 khaamoshiyo kee aadat ho gayee hai,??
 na shikava raha na shikaayat kisee se,
 agar  hai to ek   mohabbat,
 jo in tanhaiyon se ho gaee hai...

इन शामों के ढलते ही ,
   घबरा जाता है दिल
अब रात भर तुम इन आँखों से
   दूर रहोगे !!
ये ढलती हवाये फिर
   तेरी हर एक अदा झलकाती
के जैसे अब हर वक़्त को पास
   तुम रहोगे !

in shaamon ke dhalate hee ,
   ghabara jaata hai dil
ab raat bhar tum in aankhon se
   door rahoge !
ye dhalatee havaaye phir
   teree har ek ada jhalakaatee
ke jaise ab har vaqt ko paas
   tum rahoge !!


Motivational Shayari


न संघर्ष न तकलीफें
   फिर क्या मजा है जीने में
तूफान भी रूक जाएगा
   जब लक्ष्य रहेगा सीने में...
पसीने की स्याही से  लिखे पन्ने
कभी कोरे नहीं होते
जो करते है मेहनत दर मेहनत
     उनके सपने कभी अधूरे नहीं होते..

na sangharsh na takaleephen
   phir kya maja hai jeene mein
toophaan bhee rook jaega
   jab lakshy rahega seene mein...
paseene kee syaahee se  likhe panne
kabhee kore nahin hote
jo karate hai mehanat dar mehanat
unake sapane kabhee adhoore nahin hote.
कुछ गहरा सा लिखना था
दोस्ती से ज़्यादा क्या लिखूं...
कुछ ठहरा सा लिखना था
दर्द से ज़्यादा क्या लिखूं...
kuchh gahara sa likhana tha
dostee se zyaada kya likhoon...
kuchh thahara sa likhana tha
dard se zyaada kya likhoon...

कुछ समंदर सा लिखना था
आँसू से ज़्यादा क्या लिखूं...
कुछ अपना सा लिखना था
आंखों से ज़्यादा क्या लिखूं...

kuchh samandar sa likhana tha
aansoo se zyaada kya likhoon...
kuchh apana sa likhana tha
aankhon se zyaada kya likhoon...

कुछ खुशबू सा लिखना था,
क़िरदार से ज़्यादा क्या लिखूं...
सुनो अब ज़िंदगी लिखनी है
दोस्त और रिश्तों से ज़्यादा क्या लिखूं..।

kuchh khushaboo sa likhana tha,
qiradaar se zyaada kya likhoon...
suno ab zindagee likhanee hai
dost aur rishton se zyaada kya likhoon...


https://www.nepalishayari.com/2020/03/heart-touching-motivational-new.html
Love shayari Photo


अगर आप कुछ पाने
के लिए जी रहे हैं..
तो उसे वक़्त पर हासिल करो..
क्योंकि ज़िंदगी मौके कम और
धोखे ज्यादा देती है...
कहां से लाऊं पक्के सबूत,
 की तुम्हें कितना चाहते हैं,
दिल, दिमाग ओर नजर,
सब तो तेरी कैद में है।
जिंदगी में कुछ गहरे जख्म
कभी नहीं भरते
इन्सान बस उन्हें छुपाने का
हुनर सीख जाता है

agar aap kuchh paane
ke lie jee rahe hain..
to use vaqt par haasil karo..
kyonki zindagee mauke kam aur
dhokhe jyaada detee hai...
kahaan se laoon pakke saboot,
 kee tumhen kitana chaahate hain,
dil, dimaag or najar,
sab to teree kaid mein hai.
jindagee mein kuchh gahare jakhm
kabhee nahin bharate
insaan bas unhen chhupaane ka
hunar seekh jaata hai

कोई नहीं होता हमेशा के लिए किसी का,
लिखा है साथ थोड़ा-थोड़ा इस दुनिया में सभी का,
मत बनाओ किसी को अपने जीने की वजह,
क्योंकि बाद में जीना पड़ता है अकेले ही ये असूल है जिन्दगी का ।

koee nahin hota hamesha ke lie kisee ka,
likha hai saath thoda-thoda is duniya mein sabhee ka,
mat banao kisee ko apane jeene kee vajah,
kyonki baad mein jeena padata hai akele hee ye asool hai jindagee ka .

हर कोई तुमसा ख़ास नहीं होता,
जो ख़ास होता है वोह कभी पास नहीं होता,
यकीन ना आये तो चाँद को ही देखो,
जिसके दूर होते हुए भी दूरी का एहसास नहीं होता

har koee tumasa khaas nahin hota,
jo khaas hota hai voh kabhee paas nahin hota,
yakeen na aaye to chaand ko hee dekho,
jisake door hote hue bhee dooree ka ehasaas nahin hota


सुंदर शायरी - beautiful Hindi love Lhayari


तुम्हारे लब्ज सुनने में सुबह से शाम होने दो,
मैं तुमसे प्यार करती हूँ ये चर्चा आम होने दो ।।
कहर क्या खूब ढाती है तुम्हारी मुस्कुराहट भी,
अगर मर जाऊं मैं इनपे यही अंजाम होने दो ।।
सिहर उठता बदन मेरा फकत बस हाथ छूने से,
जो अच्छा है नहीं यह तो बुरा ही काम होने दो ।।
दो पल साथ देखा बस तो क्यों जलते हो शहर वालों,
अभी तो खोयी हूँ मैं बस, अभी गुमनाम होने दो ।।

tumhaare labj sunane mein subah se shaam hone do,
main tumase pyaar karatee hoon ye charcha aam hone do ..
kahar kya khoob dhaatee hai tumhaaree muskuraahat bhee,
agar mar jaoon main inape yahee anjaam hone do .
sihar uthata badan mera phakat bas haath chhoone se
jo achchha hai nahin yah to bura hee kaam hone do .
do pal saath dekha bas to kyon jalate ho shahar vaalon,
abhee to khoyee hoon main bas, abhee gumanaam hone do ..

सुस्त ज़िन्दगी के दिन चार देखिये,
तेज़ भागते वक़्त की रफ़्तार देखिये
सिकुड़ती हुई उम्र के कमरे के बाहर
ख्वाहिशों की लम्बी क़तार देखिये,

sust zindagee ke din chaar dekhiye,
tez bhaagate vaqt kee raftaar dekhiye
sikudatee huee umr ke kamare ke baahar
khvaahishon kee lambee qataar dekhiye,

रंगीपुती रिश्तों की दीवारों के अंदर
घर बनाती रंजिश की दरार देखिये
दुकाने इंसानियत की बंद हो गयीं
वहशियत का हर तरफ बाजार देखिये

rangeeputee rishton kee deevaaron ke andar
ghar banaatee ranjish kee daraar dekhiye
dukaane insaaniyat kee band ho gayeen
vahashiyat ka har taraph baajaar dekhiye

झुक के पाँव छूती थी जो शोहरतें
आज उन्हें ही सर पर सवार देखिये
बाँट ली हैं साँसे बराबर के हिस्सों में
आंसू और हंसी के बीच करार देखिये

jhuk ke paanv chhootee thee jo shoharaten
aaj unhen hee sar par savaar dekhiye
baant lee hain saanse baraabar ke hisson mein
aansoo aur hansee ke beech karaar dekhiye

शायद कोई हमको खोजकर ले आये
गुमशुदगी का देकर इश्तेहार देखिये
दिल तो कबका इसमें दफ़न हो चूका
अब तो सिर्फ जिस्म की मज़ार देखिये...

shaayad koee hamako khojakar le aaye
gumashudagee ka dekar ishtehaar dekhiye
dil to kabaka isamen dafan ho chooka
ab to sirph jism kee mazaar dekhiye...

हमें कुछ पता नहीं है हम क्यों बहक रहे हैं।
रातें सुलग रही हैं दिन भी दहक रहे हैं।
जब से है तुमको देखाहम इतना जानते हैं।
तुम भी महक रहे हो हम भी महक रहे हैं।

hamen kuchh pata nahin hai ham kyon bahak rahe hain.
raaten sulag rahee hain din bhee dahak rahe hain
jab se hai tumako dekhaaham itana jaanate hain.
tum bhee mahak rahe ho ham bhee mahak rahe hain.

यकीन नहीं तुझे अगर तो आज़मा के देख ले,
एक बार तू जरा मुस्कुरा के देख ले,
जो ना सोचा होगा तूने वो मिलेगा तुझको भी,
एक बार आपने कदम बढ़ा के देख ले।

yakeen nahin tujhe agar to aazama ke dekh le,
ek baar too jara muskura ke dekh le,
jo na socha hoga toone vo milega tujhako bhee,
ek baar aapane kadam badha ke dekh le

आज बहुत दिनों बाद
कोई बहुत याद आया है।
ये क्या दिल की खूबसूरती है
या किसी का साया है।

aaj bahut dinon baad
koee bahut yaad aaya hai.
ye kya dil kee khoobasooratee hai
ya kisee ka saaya hai.

"हर प्यार में एक एहसास होता है,
हर काम का एक अंदाज होता है,
जब तक ना लगे बेवफाई की ठोकर,
हर किसी को अपनी पसंद पे नाज़ होता है."

"har pyaar mein ek ehasaas hota hai,
har kaam ka ek andaaj hota hai,
jab tak na lage bevaphaee kee thokar,
har kisee ko apanee pasand pe naaz hota hai."

आज भी चाँद को देखकर
मुझे अक्सर तेरी याद आती है,
ख्वाब में अब भी'तेरा चेहरा और
आईने में 'तेरी सुरत नजर आती है।

aaj bhee chaand ko dekhakar
mujhe aksar teree yaad aatee hai,
khvaab mein ab bheetera chehara aur
aaeene mein teree surat najar aatee hai.

यादें अक्सर होती हैं सताने के लिए,
कोई रूठ जाता है फिर मान जाने के लिए,
रिश्ते निभाना कोई मुश्किल तो नहीं,
बस दिलों मे प्यार चाहिए उसे निभाने के लिए..!!

yaaden aksar hotee hain sataane ke lie,
koee rooth jaata hai phir maan jaane ke lie,
rishte nibhaana koee mushkil to nahin,
bas dilon me pyaar chaahie use nibhaane ke lie..!!

"मोहब्बत" करने चले थे, रंजिशें हो गयी
हज़ार पहरे हो गये, लाख बंदिशें हो गयी
हमारे प्यार को लग गयी ज़माने की नज़र
बेवजह हम पर, ग़मो की बारिशें हो गयी

"mohabbat" karane chale the, ranjishen ho gayee
hazaar pahare ho gaye, laakh bandishen ho gayee
hamaare pyaar ko lag gayee zamaane kee nazar
bevajah ham par, gamo kee baarishen ho gayee

दुश्मन हज़ार हुए, लाख साजिशें हो गयी
जलकर "राख" हमारी, ख्वाहिशें हो गयी
बेरहम हो गये क्यों ये मोहब्बत के दुश्मन
सुपुर्द-ए-ख़ाक हमारी, गुज़ारिशें हो गयी

dushman hazaar hue, laakh saajishen ho gayee
jalakar "raakh" hamaaree, khvaahishen ho gayee
beraham ho gaye kyon ye mohabbat ke dushman
supurd-e-khaak hamaaree, guzaarishen ho gayee

नखरे आपके तौबा-तौबा
गजब आपका स्टाईल है,
मेसेज तो आप कभी करते नहीं,
बस हल्ला मचा रखा है की..
हमारे पास भी मोबाईल है।

nakhare aapake tauba-tauba
gajab aapaka staeel hai,
mesej to aap kabhee karate nahin,
bas halla macha rakha hai kee..
hamaare paas bhee mobaeel hai.

ज़िन्दगी में किसी का साथ काफी है,
हाथों में किसी का हाथ काफी है,
दूर हो या पास फर्क नहीं पड़ता,
प्यार का तो बस अहसास ही काफी है।

zindagee mein kisee ka saath kaaphee hai,
haathon mein kisee ka haath kaaphee hai,
door ho ya paas phark nahin padata,
pyaar ka to bas ahasaas hee kaaphee hai.

"तुजे दिल से जुदा कभी होने नहीं देंगे,
हाथ हमारा कभी छोड़ने नहीं देंगे
तेरी मुस्कान ही इतनी प्यारी हे की
हम मर भी जाये पर तुजे रोने नहीं देगे

"tuje dil se juda kabhee hone nahin denge,
haath hamaara kabhee chhodane nahin denge
teree muskaan hee itanee pyaaree he kee
ham mar bhee jaaye par tuje rone nahin dege

न ज़ रे  मिले तो प्यार हो जाता है;
पलके उठे तो इज़हार हो जाता हैं;
ना जाने क्या कशिश हैं चाहत में;
कि कोई अनजान भी हमारी;
जिंदगी का हक़दार हो जाता है।

na za re  mile to pyaar ho jaata hai;
palake uthe to izahaar ho jaata hain;
na jaane kya kashish hain chaahat mein;
ki koee anajaan bhee hamaaree;
jindagee ka haqadaar ho jaata hai.

ये जो जिंदगी की किताब है...
ये किताब भी क्या किताब है...
इंसान जल्दी संवारने में व्यस्त है...
और पन्ने बिखरने को बेताब हैं...

ye jo jindagee kee kitaab hai...
ye kitaab bhee kya kitaab hai...
insaan jaldee sanvaarane mein vyast hai...
aur panne bikharane ko betaab hain..

न माँझी, न हमसफ़र, न हक़ में हवाएँ
कश्ती भी जर्ज़र, ये कैसा सफ़र है…
अलग ही मज़ा है फ़कीरी का अपना
न पाने की चिन्ता, न खोने का डर है…

na maanjhee, na hamasafar, na haq mein havaen
kashtee bhee jarzar, ye kaisa safar hai…
alag hee maza hai fakeeree ka apana
na paane kee chinta, na khone ka dar hai…

काश एक शायरी कभी
तुम्हारी क़लम से ऐसी भी हो...
जो मेरी हो, मुझ पर हो
और बस मेरे लिए ही हो...

kaash ek shaayaree kabhee
tumhaaree qalam se aisee bhee ho...
jo meree ho, mujh par ho
aur bas mere lie hee ho...

दिखाई कम दिया करते हैं,
बुनियाद के पत्थर...
ज़मीं में जो दब गये,
इमारत उन्हीं पे क़ायम है..

dikhaee kam diya karate hain,
buniyaad ke patthar...
zameen mein jo dab gaye,
imaarat unheen pe qaayam hai..

छू लूँ तुझे या तुझमें ही बस जाऊँ....
लब्ज लिखूँ या खामोश हो जाऊँ....
करूँ- इश्क या करूँ- मोहब्बत.....
थोड़ा   सा  तो दिखा   प्यार.....
जिससे मैं तुझ में ही बस जाऊ

chhoo loon tujhe ya tujhamen hee bas jaoon....
labj likhoon ya khaamosh ho jaoon....
karoon- ishk ya karoon- mohabbat.....
thoda   sa  to dikha   pyaar.....
jisase main tujh mein hee bas jaoo

हाथ में कलम,
आंखों में ख्वाब लिए फिरता हूं।
कहानी मेरी मैं खुद लिखुगां,
कुछ गम कुछ खुशियों के पल लिखूंगा।
कदीर में लिखा कौन बदलेगा,
जब मेरी किस्मत मैं खुद लिखुगा।

haath mein kalam
aankhon mein khvaab lie phirata hoon.
kahaanee meree main khud likhugaan,
kuchh gam kuchh khushiyon ke pal likhoonga.
kadeer mein likha kaun badalega,
jab meree kismat main khud likhuga.


Sher Shayari


तुम आए ज़िंदगी मे कहानी बन कर,
तुम आए ज़िंदगी मे रात की चाँदनी बन कर,
बसा लेते है जिन्हे हम आँखो मे,
वो अक्सर निकल जाते है आँखो से पानी बन कर…

tum aae zindagee me kahaanee ban kar,
tum aae zindagee me raat kee chaandanee ban kar,
basa lete hai jinhe ham aankho me,
vo aksar nikal jaate hai aankho se paanee ban kar

कुछ सोचूं तो तेरा ख्याल आ जाता है;
कुछ बोलूं तो तेरा नाम आ जाता है;
कब तलक बयाँ करूँ दिल की बात;
हर सांस में अब तेरा एहसास आ जाता है।

kuchh sochoon to tera khyaal aa jaata hai;
kuchh boloon to tera naam aa jaata hai;
kab talak bayaan karoon dil kee baat;
har saans mein ab tera ehasaas aa jaata hai.

मुझे तेरे ख्वाबों से प्यार इतना हैं,
की खुदको उनके लिए निसार करदू
करू बस तुझसे मैं मोहब्बत इतनी
और अपना ये साल तेरे नाम कर दू.

mujhe tere khvaabon se pyaar itana hain,
kee khudako unake lie nisaar karadoo
karoo bas tujhase main mohabbat itanee
aur apana ye saal tere naam kar doo.

सदा दूर रहो ग़म की परछाइयों से
सामना न हो कभी तन्हाईओं से
हर अरमान हर ख्वाब पूरा हो आपका
यही दुआ है दिल की गहराइयों से
नववर्ष की हार्दिक शुभकामनायें

sada door raho gam kee parachhaiyon se
saamana na ho kabhee tanhaeeon se
har aramaan har khvaab poora ho aapaka
yahee dua hai dil kee gaharaiyon se
navavarsh kee haardik shubhakaamanaayen

बहुत खूबसूरत होते हैं वो पल....?
जिसमे दोस्त साथ होते है
लेकिन उससे भी खूबसूरत है
वो लम्हें जब दूर रहकर भी
वो हमें याद करते है ।

bahut khoobasoorat hote hain vo pal....?
jisame dost saath hote hai
lekin usase bhee khoobasoorat hai
vo lamhen jab door rahakar bhee
vo hamen yaad karate hai .

Post a comment

0 Comments