Facebook

Heart touching shayari for girlfriend , Mohabbat heart touching shayari

Mohabbat heart touching shayari


सबसे पहिला मेरा नमस्ते आज Mohabbat heart touching shayari पर शायरी लेकर आय हैं। महोब्बत हर किसीको किसीन किसी से तो जरूर होता हैं। एक दूसरेको प्यार करना प्यारकी बात करना कोही बड़ी बात नहीं हैं हमजब इस धरती पर जन्म होता हम किसी न किसी से नजदीक प्यार दर्ज करने का कोसीस करते हैं।

इस धर्ती पर कोही भी आदमी किसी को भी प्यार कर सकते हैं अपना जीवन बिता सकती हैं इस सिल सिला पर किसीका धोका होजाता हैं किसीका अच्छा होजाते हैं। किसी का दुःख किसीका सुख य तो होना हैं। 

पर आज मैं Mohabbat heart touching shayari आपने हिसाब से सायरी लिखने छोटा सा की कोसिस हैं मोहब्बत पर धोका होने पर कैसे लोग महसूस करते हैं किस प्रकार से बिछड़ जाते हैं उस समय का उस का दिल पर क्या क्या होता हैं कितमा दुःख होता हैं उसी को दिखने की कोसिस हैं।

https://www.nepalishayari.com/2020/04/hindi-shayari-collection-in-english.html
Hart touching Shayari


Pyar ki Shayari


हसरतें कुछ और हैं...
वक्त की इल्तजा कुछ और है...
कौन जी सका है...
ज़िन्दगी अपने मुताबिक...
दिल चाहता कुछ और है...
होता कुछ और है...


सैर जन्नत की करा देते है यह इश्क़,
दीवाना सबको बना देता है यह इश्क़,
दिल के मरीज़ हो तो करलो यह कम्बख्त इश्क़,
दिल को धड़कना सीखा देता है यह मासूम इश्क़।


तुम्हें भूले पर तेरी यादों को ना भुला पाये;
सारा संसार जीत लिया बस एक तुम से ना हम जीत पाये;
तेरी यादों में ऐसे खो गए हम कि किसी को याद ना कर पाये;
तुमने मुझे किया तनहा इस कदर कि
अब तक किसी और के ना हम हो पाये।


ना हम रहे दिल लगाने के काबिल;
ना दिल रहा ग़म उठाने के काबिल;
लगे उसकी यादों के जो ज़ख़्म दिल पर;
ना छोड़ा उसने फिर मुस्कुराने के काबिल।


तेरे प्यार म दो पल की,,
जिंदगी बहुत है,!!
एक  पल की हँसी,,
   और,
एक पल की खुशी बहुत है,
यह दुनिया मझे जाने,
या ना जाने,
तेरी आँखे मुझे,,
पहचाने यही बहुत है…


मेरे अधूरे ख्वाब और उलझता हु मै
ये कितना सही है         
मेरे तकलिफी जजबात और
उसकी यादों में खोया रहना कितना सही है।।
अब दिल भी कहता है अलग मंज़िल देख और
अलग देख अपने रास्ते क्योकि बेमतलबी लोगो से
रिश्ता रखना कितना सही है।।


कभी सोचा करते थे हम ....,
प्यार में ये याद वाद नही आती !!
उसे दिल मे जगह देकर उसे
अपने करीब पाना ही प्यार होता है!!
आज दूर है , तो पल पल को
किसीकी  कमी महसूस हो रही है !!


आपको हर "वक्त" पता होता है
आपके पास कितनी "दौलत" है
लेकिन आप कितनी भी "दौलत"
खर्च करके यह नही जान सकते 
कि आपके पास कितना ''वक्त" है


दिल ही दिल में तुम्हें प्यार करते हैं,
चुप-चाप मोहब्बत का इजहार करते हैं,
ये जानते हुए भी आप मेरी किस्मत में नहीं,
पर पाने की कोशिश बार-बार करते है।


तुम जो दगा दो , तो भी सब सह जाऊ मैं
तुम जो कोई दवा दी , चुप - चाप पी जाऊ मैं
मेरे प्रेम रुपी शीतल जल का बहता प्रमाण ही
तुम जो कही तो उसी जल में डूब जाऊँ मैं
पक्के घागे है ये मेरे अरमानों के जो तुम
कहो तो इसका स्थिर हार सजाऊँ मैं
जिस तरह आसमाँ को मोहब्बत है इस धरा से
बिल्कुल उसी तरह हर पल तेरी नजरों में खो जाऊँ मैं ।


न जाने क्यू अभी आपकी याद आ गयी
मौसम क्या बदला बरसात भी आ गयी
मैंने छुकर देखा बूंदों को तो..
हर बूंद में आपकी तस्वीर नज़र आ गयी..


हम वो नहीं,
जो मतलब से याद करते है 
हम वो हैं,
जो रिश्तों से प्यार करते है 
आपका पैगाम आये या ना आये,
हम रोज आपको दिल से याद करते है


तेरे दीदार की है हसरत
तुझे पाने की ख्वाहिश है ..
हर एक लम्हा
तेरे दिल में उतर जाने की ख्वाहिश है ..
तेरे सीने पे रख के सिर
तेरे प्यार में कुछ पल जी लूं
मेरी इस ज़िंदगी को
अब संवर जाने की ख्वाहिश है ..
कर के दीदार तेरे हुस्न का,
हम तो संवरने लगे हैं..!!


कैसे करू इज़हारे-इश्क मैं,
खद में ही सिमटने लगे हैं.!!
करते है इशारे ऐसे निगाहों से,,
ख्वाब आँखों मे सजने लगे हैं...!!
ऐ दिल जरा सम्भल जा,वो धड़कन में,,
……समाने लगे हैं...!


मुस्कुरा के महफ़िल में,
दर्द को दबाया है उसने,
झूठ तो नही बोला,
सच मगर छुपाया है उसने...!


रेस के बीच में अपना घोडा
नहीं बदलना चाहिए
यानी आपने जो लक्ष्य निर्धारित किया है
उसकी तरफ आपको लगातार
चलते रहने से ही सफलता हासिल होती है


तुजे दिल से जुदा कभी होने नहीं देंगे,
हाथ हमारा कभी छोड़ने नहीं देंगे
तेरी मुस्कान ही इतनी प्यारी हे की
हम ख़तम भी जाये पर तुजे आंसू नहीं देगे
"धीरे धीरे उम्र कट जाती हैं!
"जीवन यादों की पुस्तक बन जाती है!
"कभी किसी की याद बहुत तड़पाती है!
"कभी यादों की भरोसा से जिंदगी वीत जाती है! 


"किनारो पे सागर के खजाने नहीं आते!
"फिर जीवन में दोस्त पुराने नहीं आते!
"जी लो इन पलों को हंस के दोस्तो
"फिर लौट के दोस्ती के जमाने नहीं आते!!           


कोई ऐसा दिल हो जो मेरी आरज़ू करे,
खो जाऊं अगर कहीं तो मेरी जुस्तजू करे,
मैं उसके जहेन-ओ-दिल में कुछ इस तरह समा जाऊं,
वो जब भी जुबां खोले मेरी गुफ्तगू करे।


याद करेंगे तो दिन से रात हो जायेगी,
सिसापे देखीय देखिये खुद को हमसे बात हो जायेगी
शिकवा न करीये हमसे मिलने का,
आँखे बंद करीये मुलाकात हो जायेगी...


दिल की हालत बताई नहीं जाती,
हमसे उनकी चाहत छुपाई नहीं जाती,
बस एक याद बची है उनके जाने के बाद, 
वो याद भी दिल से निकाली नहीं जाती।

मोहब्बत की रिवायत को...
हम दोनों यूं ही निभाएंगे...!!
कभी तुम याद आ जाना...
कभी हम याद आएंगे...!!
ख़फा नहीं होने देंगे कभी...
दोनों एक-दूसरे को हम...!!
कभी तुम मुस्कुरा देना...
कभी हम मुस्कुराएंगे...!!
कोई कुछ भी कहता रहे...
कहने दो सबकी आदत है...!!
हमारा दिल जो चाहेगा...
हम वो करते ही जाएंगे...!!
शरारत का अगर मन हो तो...
तुम यूं करना मेरे हमदम...!!
अचानक रूठ जाना तुम...
और तुमको हम मनाएंगे...!!


तमन्नाएं भी उम्र भर कम नहीं होंगी,
समस्याएं भी कभी हल नहीं होंगी ।
फिर भी हम जी रहे हैं वर्षों से इस तमन्ना में,
शायद जो आज हैं मुश्किलें, कि कल नहीं होंगी ।


मेरी मुहबत भी बेमिसाल होगी।
उसकी खुशी मे मेरी खुशी होगी।
वो जितना प्यार करेगी मुझसे
मेरी जिंदगी उतनी कमाल होगी।


छुपा लूंगी तुझे इस तरह से बाहों में,
हवा भी गुज़रने के लिए इज़ाज़त मांगे,
हो जाऊं तेरे इश्क़ में मदहोश इस तरह;
कि होश भी वापस आने के इज़ाज़त मांगे


कोई ग़ज़ल सुना कर क्या करना,
यूँ बात बढ़ा कर क्या करना,
तुम मेरे थे... तुम मेरे हो,
दुनिया को बता कर क्या करना।
तुम साथ निभाओ चाहत से,
कोई रस्म निभा कर क्या करना,
तुम खफ़ा भी अच्छे लगते हो,
फिर तुमको मना कर क्या करना।


https://www.nepalishayari.com/2020/04/hindi-shayari-collection-in-english.html
love shayari image

अपनों के दरमियां सियासत फ़िजूल है
मक़सद न हो कोई तो बग़ावत फ़िजूल है।
रोज़ा, नमाज़, सदक़ा-ऐ-ख़ैरात या हो हज
खुश ना हों, माँ बाप तो इबादत फ़िजूल है। 
तेरे चेहरे पे कोई ग़म नहीं देखा जाता,
हम से उतरा हुआ परचम नहीं देखा जाता !
वो हमें जब भी बुलाएँगे चले जाएँगे,
उनसे मिलना हो तो मौसम नहीं देखा जाता !


तुम्हें देखकर मैं खुद को भूल जाता हूँ
तन्हाई में अक्सर ग़ज़ल गुनगुनाता हूँ ।
इश्क़ हो गया है या कोई और बला है,
बेवजह यूँ हर घड़ी अब मुस्कुराता हूँ ।।


इस कदर हम उनकी मुहब्बत में खो गए!
कि एक नज़र देखा और बस उन्हीं के हम हो गए!
आँख खुली तो अँधेरा था देखा एक सपना था!
आँख बंद की और उन्हीं सपनो में फिर सो गए!


प्यार कमजोर दिल से किया नहीं जा सकता!
ज़हर दुश्मन से लिया नहीं जा सकता!
दिल में बसी है उल्फत जिस प्यार की!
उस के बिना जिया नहीं जा सकता!


दुश्मन भी मेरे मुरीद हैं शायद,
वक्त-बेवक्त मेरा नाम लिया करते हैं।
मेरी गली से गुजरते हैं छुपा के खंजर,
रू-ब-रू होने पर सलाम किया करते हैं।


कभी कभार ही सही, मिलने के बहाने चाहिए,
इस दिल को यादों के आशियाने चाहिए ,
जिनसे हो जाती है ज़िन्दगी ज़न्नत मेरी,
निगाहों को बस वो ही ठिकाने चाहिए !


हर इंन्सान का दिल बुरा नही होता
हर एक इन्सान बुरा नही होता,
बुझ जाते है दीये कभी तेल की कमी से
हर बार कुसुर हवा का नही होता !


आँख तो प्यार में दिल की ज़ुबान होती है,
सॅकी चाहत तो सदा बेज़ुबान होती है,
प्यार में दर्द भी मिले तो क्या घबराना,
सुना है दर्द से चाहत और जवान होती है.


रीत है जाने कैसी जमाने की..
जो सजा मिलती है दिल लगाने की
न बसाना कभी किसी को दिल मे इतना..कि
फिर दुआ मांगनी पड़े भुलाने की...!


दुश्मन भी दुआएँ देते हैं,
मेरी फितरत कुछ ऐसी हैं...
अपने ही दगा देते हैं,
मेरी किस्मत कुछ ऐसी हैं


तेरी यादों की नौकरी में,
दीदार की पगार मिलती है,
खर्च हो जाते हैं अश्क नैनों के,
रहमत कहाँ उधार मिलती है।...


रुतबा कम ही सही,
मगर लाजवाब हैं मेरा,
जो हर किसी के दर पर दस्तक दे,
वो किरदार नही हैं मेरा


मकड़ी भी नहीं फँसती,
अपने बनाये जालों में।
जितना आदमी उलझा है,
अपने बुने ख़यालों में...।।


सफर-ए-जिंदगी में,
जब कोई मुश्किल मकाम आया,
ना गैरो ने तवज्जो दी,
न कोई अपना काम आया


बूझी शमां भी जल सकती है,
तूफ़ान से कश्ती भी निकल सकती है,
होके मायूस यूँ ना अपने इरादे बदल,
तेरी किस्मत कभी भी बदल सकती है.


लिखते रहेंगे अपने प्यार की कहानी,
भले वो मिले या ना मिले इस जन्म में
लेकिन बताते रहेंगे लोगो को उसकी कहानी
उसी की जुबानी इस जन्म में
चाहा तो सात जन्मों में मिलने की
ना मिलने की कहानी।


रिश्तों से भरी दुनिया में अगर
किसी को परखने की नौबत नहीं आयी है...
तो समझ लेना कि वक्त ने आपसे
बड़ी शिद्दत से रिश्तेदारी निभाई है...!!


बहुत सुकून मिलता है जब उनसे हमारी बात होती है
वो हजारो रातों में वो एक रात होती है
जब निगाहें उठा कर देखते हैं वो मेरी तरफ
तब वो ही पल मेरे लीये पूरी कायनात होती है


तुम्हारी पलकों में बसा हुआ एक ख्वाब हूँ 
कही अधूरा टूट के बिखर न जाऊं 
तुम्हारी आँखों में झलकता हुआ एक आंसूं हूँ 
कही बह कर रेत  में मिल न जाऊं


तुम्हारे दिल में बसा हुआ एक अरमान हूँ 
कही धड़कन मैं दब कर खो ना जाऊं
तुम्हारे होठों पर बस्सी एक हस्सी हु 
कही कभी गम में मैं बदल न जाऊ 
तुम्हारे लबो पर थिरकती हुई एक कपकपी हूँ 
कही छूने से थिरकना भूल न जाऊं


मुझे हरदम सीने से लगाए रखना तू 
कही जुदा हो के कई दुनिया की भीड़ में खो न जाऊ 
तुम्हारे जिस्म में बस्सी हुई एक रूह हु 
कही बिछड़ के मर न जाऊं


प्यार उसको मिलता है जिसकी तकदीर होती है,
बहुत कम हाँथो मे ये लकीर होती है,
कभी जुदा ना हो प्यार किसी का,
कसम खुदा की बहुत तकलीफ होती है…


दोस्ती तो बस एक इत्तेफ़ाक़ है,
दोस्ती तो दो दिलों की मुलाक़ात है,
दोस्ती नहीं देखती दिन और रात,
इसमें तो सिर्फ ईमानदारी और जज़्बात है।


रात सुबह का इंतज़ार नहीं करती",
"खुशबु मौसम का इंतज़ार नहीं करती".!
"जो भी ख़ुशी मिले उसका आनंद लिया करो",,
"क्योंकि जिंदगी वक़्त का इंतज़ार नहीं करती"..!


ज्यादा जोर से पकड़ो, तो धागे टूट जाते है।
ये रिस्ते आइने से नाजुक, गर छूटे तो फूट जाते है।।
उन्हें मनाये तो बोलो कैसे मनाये?
जो थोड़े से मजाक में हमसे रूठ जाते है।


कछ लोग खोने को प्यार कहते हैं
तो कुछ पाने को प्यार कहते हैं
पर हकीक़त तो ये है.
हम तो बस निभाने को प्यार कहते हैँ....


तू नहीं तो ज़िंदगी में और क्या रह जायेगा,
दूर तक तन्हाइयों का सिलसिला रह जायेगा,
आँखें ताजा मंजरों में खो तो जायेंगी मगर,
दिल पुराने मौसमों को ढूंढ़ता रह जायेगा।


तुझे इनकार है मुझसे, मुझे इकरार है तुझसे,
तू खफा है मुझसे, मुझे चाहत है तुझसे,
तू मायूस है मुझसे, मुझे खुशी है तुझसे,
तुझे नफ़रत है मुझसे और मुझे प्यार है तुझसे


मोहब्बत करने चला है,
तो कुछ अदब भी सीख लेना ऐ दोस्त…
इसमें हंसते साथ हैं,
पर रोना अकेले ही पड़ता है….


कुछ ऐसी "बेबसी" देखी तेरी निगाहों में,
गुनाह हो गया जैसे कोई "वफ़ाओं" में,
"वो" क्या समझेगा हर कदम पे क्या गुजरती है
"जो" चला ना कभीं "मुफ़लिसी" की राहों में


हर बात में आंसू बहाया नहीं करते,
दिल की बात हर किसी को बताया नहीं करते,
लोग मुट्ठी में नमक लेके घूमते है..
दिल के जख्म हर किसी को दिखाया नहीं करते।

Post a comment

0 Comments