Facebook

दिल को छूने वाली हिंदी शायरी- Hindi Shayari Collection , New heart touching shayari in Hindi


https://www.nepalishayari.com/2020/03/new-love-and-friendship-hindi-breakup.html
Friendship Shayari image



Hindi Shayari Collection - दिल को छूने वाली हिंदी शायरी



आज हमें Hindi Shayari collocation लेकर आए हैं शायरी हर कोही व्यक्ति सुन्ना सुननाना, पढ़ना, लिखना पसंद आता हैं। हिंदी शायरी बुढ़ापा हो- या जवान लड़का हो या लड़की हर कोही जीवन में कहीं न कही जरूर प्रयोग किया हैं। कोही व्यक्ति तो जिंदगी भर अपना pesan बनाकर जिंदगी गुजरती हैं। 

Hindi Shayari collocation पर हर का शायरी मौजूद हैं जैसे friendship shayari,love shayari in hindi,dosti shayari,romantic shayari,sad shayari,love shayari,fathers day quotes in hindi,heart touching shayari in hindi,heart touching shayari,dard bhari shayari, miss u shayari,boys attitude shayari,galib ki shayari,new sad shayari,funny shayari,birthday wishes shayari,life shayari in hindi,mast shayari,good night shayari in hindi,good morning rahat indori shayri,bewafa shayari hindi,love shayari in hindi for boyfriend,antarwasnna poem shayari hindi,new love shayari, इस प्रकार का सायरी हैं तो आपको पसंद वाले चुन चुन कर शेर जरूर करना। शायरी :❤☺❤


Hindi Shayari collocation


जिंदगी में कोई प्यार से प्यारा नही मिलता,
जिंदगी में कोई प्यार से प्यारा नही मिलता,
जो है पास आपके उसको सम्भाल कर रखना,
क्योंकि एक बार खोकर प्यार दोबारा नही मिलता।


jindagee mein koee pyaar se pyaara nahee milata,
jindagee mein koee pyaar se pyaara nahee milata,
jo hai paas aapake usako sambhaal kar rakhana,
kyonki ek baar khokar pyaar dobaara nahee milata.


 सुकून मिलता है बहुत जब उनसे हमारी बात होती है,
वो हजारो रातों में वो एक रात होती है,
वो मेरी तरफ जब निगाहें उठा कर देखते हैं ,
तब वो ही पल मेरे लीये पूरी कायनात होती है।


sukoon milata hai bahut jab unase hamaaree baat hotee hai,
vo hajaaro raaton mein vo ek raat hotee hai,
vo meree taraph jab nigaahen utha kar dekhate hain ,
tab vo hee pal mere leeye pooree kaayanaat hotee hai.


दिल का हाल बताना नही आता,
हमे ऐसे किसी को तड़पाना नही आता,
सुनना तो चाहतें हैं हम उनकी आवाज़ को,
पर हमे कोई बात करने का बहाना नही आता।
dil ka haal bataana nahee aata,
hame aise kisee ko tadapaana nahee aata,
sunana to chaahaten hain ham unakee aavaaz ko,
par hame koee baat karane ka bahaana nahee aata.


हर कदम हर पल हम आपके साथ है,
भले ही आपसे दूर सही, लेकिन आपके पास हैं,
जिंदगी में हम कभी आपके हो या न हों,
लेकिन हमे आपकी कमी का हर पल एहसास हैं।


har kadam har pal ham aapake saath hai,
bhale hee aapase door sahee, lekin aapake paas hain,
jindagee mein ham kabhee aapake ho ya na hon,
lekin hame aapakee kamee ka har pal ehasaas hain.


इश्क करती हूँ तुझसे अपनी जिंदगी से ज्यादा,
मैं डरतीं हूँ मौत से नही तेरी जुदाई से ज्यादा,
चाहे तो हमे आज़मा कर देख किसी और से ज्यादा,
मेरी जिंदगी में कुछ नही तेरी आवाज़ से ज्यादा।
ishk karatee hoon tujhase apanee jindagee se jyaada,
main darateen hoon maut se nahee teree judaee se jyaada,
chaahe to hame aazama kar dekh kisee aur se jyaada,
meree jindagee mein kuchh nahee teree aavaaz se jyaada.


जब खामोश निगाहों से बात होती है,
तो ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है,
हमतो बस खोये ही रहतें हैं उनके ख्यालों में,
मालूम नही चलता दिन रात कब होती है।


jab khaamosh nigaahon se baat hotee hai,
to aise hee mohabbat kee shuruaat hotee hai,
hamato bas khoye hee rahaten hain unake khyaalon mein,
maaloom nahee chalata din raat kab hotee hai.

हकीकत कहो तो उन्हें ख्वाब लगता है,
शिकवा करो तो उन्हें मज़ाक लगता है,
कितनी शिद्दत से हम उन्हें याद करते हैं,
और एक वो हैं जिन्हें ये सब मजाक लगता है।
hakeekat kaho to unhen khvaab lagata hai,
shikava karo to unhen mazaak lagata hai,
kitanee shiddat se ham unhen yaad karate hain,
aur ek vo hain jinhen ye sab majaak lagata hai.


तेरी मोहब्बत ने हमे बेनाम कर दिया,
हमे हर ख़ुशी से अंजान कर दिया,
हमने तो कभी नही चाहा था हमे मोहब्बत हो,
लेकिन उसकी पहली नज़र ने हमे नीलाम कर दिया।


teree mohabbat ne hame benaam kar diya,
hame har khushee se anjaan kar diya,
hamane to kabhee nahee chaaha tha hame mohabbat ho,
lekin usakee pahalee nazar ne hame neelaam kar diya.

मैं आज भी तुमसे उतनी ही मोहब्बत करता हूँ
जितनी पहले करता था,
इसलिये नही की मुझे कोई और नही मिली,
बल्कि इसलिये क्योंकि मुझे तुमसे मोहब्बत करने
से कभी फुर्सत ही नही मिली।
main aaj bhee tumase utanee hee mohabbat karata hoon
jitanee pahale karata tha,
isaliye nahee kee mujhe koee aur nahee milee,
balki isaliye kyonki mujhe tumase mohabbat karane
se kabhee phursat hee nahee milee.


एक आवाज़ है जो मेरे कानो में हमेशा गूंजती रहती है,
वो एक चहरा है जो
हमेशा मेरी आँखों के सामने आ जाता है,
पर मैं हमेशा उसे बताने से डरता हूँ,
की ये जो आवाज़ है
ये जो चहरा है वो किसी और का नही तुम्हारा है।


ek aavaaz hai jo mere kaano mein hamesha goonjatee rahatee hai,
vo ek chahara hai jo
hamesha meree aankhon ke saamane aa jaata hai,
par main hamesha use bataane se darata hoon,
kee ye jo aavaaz hai
ye jo chahara hai vo kisee aur ka nahee tumhaara hai.

तुम्हारे इश्क से बना हूँ मैं,
तुम्हारे इश्क से बना हूँ मैं,
पहले जिन्दा था,
पर अब जी रहा हूँ मैं।
tumhaare ishk se bana hoon main,
tumhaare ishk se bana hoon main,
pahale jinda tha,
par ab jee raha hoon main.


मेरे दिल को जुवां और
आँखों को सपने मिल गये,
आशिकी में तेरी मेरी
जिंदगी को मायने मिल गये।


mere dil ko juvaan aur
aankhon ko sapane mil gaye,
aashikee mein teree meree
jindagee ko maayane mil gaye.

मुझे यकीन है की मै
सिर्फ इसलिये जन्मा हूँ,
की मैं तुम्हें प्यार कर सकूँ,
और तुम सिर्फ इसलिये
की मैं तुम्हें अपना बना सकूँ।
mujhe yakeen hai kee mai
sirph isaliye janma hoon,
kee main tumhen pyaar kar sakoon,
aur tum sirph isaliye
kee main tumhen apana bana sakoon.


उसने पूंछ की कितना कस के
गले लगा सकते हो अपनी मोहब्बत को,
हमने कहा की इतना की
पसीना भी रास्ता भूल जाए।


usane poonchh kee kitana kas ke
gale laga sakate ho apanee mohabbat ko,
hamane kaha kee itana kee
paseena bhee raasta bhool jae.

तमन्ना है मेरे मन की हर
पल साथ तुम्हारा हो,
जितनी भी सांसे चले मेरी
हर साँस पर नाम तुम्हारा हो।
tamanna hai mere man kee har
pal saath tumhaara ho,
jitanee bhee saanse chale meree
har saans par naam tumhaara ho.


मोहब्बत के रिश्ते कितने अजीब होते है,
दूर कितने भी हो लेकिन कितने करीब होते है,
हम मोहब्बत में लुट गये तो क्या,
ये तो अपने अपने नसीब होते है।


mohabbat ke rishte kitane ajeeb hote hai,
door kitane bhee ho lekin kitane kareeb hote hai,
ham mohabbat mein lut gaye to kya,
ye to apane apane naseeb hote hai.

हम जानते है आप जीते हो इस दुनिया के लिए,
किसी दिन जीके देखो हमारे लिये,
इस दिल की क्या औकात है,
हम तो ये दुनिया छोड़ देंगे तुम्हारे लिए।
ham jaanate hai aap jeete ho is duniya ke lie,
kisee din jeeke dekho hamaare liye,
is dil kee kya aukaat hai,
ham to ye duniya chhod denge tumhaare lie.


Love shayari in Hindi


हमे इस बात से कोई फर्क नही पड़ता 
आपको किसे चाहा और कितना चाहा,
हम तो सिर्फ इतना जानते है 
 हद से ज्यादा सिर्फ आपको चाहा और चाहा।


hame is baat se koee phark nahee padata
aapako kise chaaha aur kitana chaaha,
ham to sirph itana jaanate hai
 had se jyaada sirph aapako chaaha aur chaaha.

तुझे बड़ी शिद्दत से चाहा है मैंने,
तुझे बड़ी मन्नतो से पाया है मैंने,
तुझे भुलाने की मैं सोच भी नही सकता,
क्योंकि तुझे हाथो की लकीर से चुराया है मैंने।
tujhe badee shiddat se chaaha hai mainne,
tujhe badee mannato se paaya hai mainne,
tujhe bhulaane kee main soch bhee nahee sakata,
kyonki tujhe haatho kee lakeer se churaaya hai mainne.


मोहब्बत वो निशान है जो नही मिटता ,
मोहब्बत वो निशान है जो नही झुकता , 
मोहब्बत की कीमत तो जरा हमसे पूछो, 
मोहब्बत वो अनमोल सोना है जो नही बिकता ।


mohabbat vo nishaan hai jo nahee mitata
mohabbat vo nishaan hai jo nahee jhukata ,
mohabbat kee keemat to jara hamase poochho,
mohabbat vo anamol sona hai jo nahee bikata .

हमने अपनी निगाहों में छिपाया है तुझे,
हमने अपनी सांसो में छिपाया है तुझे,
ये जमाना ढूँढ़ते ढूँढ़ते हो जायेगा पागल,
दिल के ऐसे कोने में छुपाया है तुझे।
hamane apanee nigaahon mein chhipaaya hai tujhe,
hamane apanee saanso mein chhipaaya hai tujhe,
ye jamaana dhoondhate dhoondhate ho jaayega paagal,
dil ke aise kone mein chhupaaya hai tujhe.


एक पल की ये बात नही,
दो पल का ये साथ नही,
वैसे तो ये जिंदगी बहुत प्यारी है,
लेकिन वो साथ ही क्या जिसमे तेरा हाथ नही।


ek pal kee ye baat nahee,
do pal ka ye saath nahee
vaise to ye jindagee bahut pyaaree hai,
lekin vo saath hee kya jisame tera haath nahee.

आप हमारे दिल में उतर गये हो,
आंगन आंगन खुशबू की तरह बिखर गये हो,
जब से छुआ है तेरे जिस्म को मेरी निगाहों ने,
तो हम भी निखर गये हैं और आप भी निखर गये हो।
aap hamaare dil mein utar gaye ho,
aangan aangan khushaboo kee tarah bikhar gaye ho,
jab se chhua hai tere jism ko meree nigaahon ne,
to ham bhee nikhar gaye hain aur aap bhee nikhar gaye ho.


हम तेरे ख्वाबो के बिना कभी सो नही सकते,
बिना तेरी याद के कभी खो नही सकते,
तू तो मेरी दिल की धड़कन है साँसे है,
और धड़कन और साँसे मुझसे जुदा हो नही सकते।


ham tere khvaabo ke bina kabhee so nahee sakate,
bina teree yaad ke kabhee kho nahee sakate,
too to meree dil kee dhadakan hai saanse hai,
aur dhadakan aur saanse mujhase juda ho nahee sakate.

ये मेरा इश्क है कोई मजबूरी नही,
वो मुझे चाहे या मिल जाये ये जरूरी नही,
ये क्या कम है मेरी नजरो में बसी है,
अब मेरा आँखों के आगे हो ये जरुरत तो नही।
ye mera ishk hai koee majabooree nahee,
vo mujhe chaahe ya mil jaaye ye jarooree nahee,
ye kya kam hai meree najaro mein basee hai,
ab mera aankhon ke aage ho ye jarurat to nahee.

हम कभी रेत पर नाम नही लिखते,
क्योंकि रेत पर लिखे नाम नही टिकते,
इस समय ने हमको पत्थर दिल करहि दिया दिया,
लेकिन पत्थरो पे लिखे नाम कभी नही मिटते।
ham kabhee ret par naam nahee likhate,
kyonki ret par likhe naam nahee tikate,
is samay ne hamako patthar dil karahi diya diya,
lekin pattharo pe likhe naam kabhee nahee mitate.


कश्ती के मुसाफिर ने समंदर नही देखा,
निगाहे तो देखी पर दिल में उतर के नही देखा,
लोग समझते है में पत्थर हूँ,
अरे हम तो माँ है किसी ने आज तक छू के नही देखा।


kashtee ke musaaphir ne samandar nahee dekha,
nigaahe to dekhee par dil mein utar ke nahee dekha,
log samajhate hai mein patthar hoon,
are ham to maan hai kisee ne aaj tak chhoo ke nahee dekha.

दोनों की पहली चाहत थी,
दोनों एक दूसरे को टूट कर चाहा करते थे,
वो कसमे लिखा करती थी,
और हम वादे लिखा करते थे।
donon kee pahalee chaahat thee
donon ek doosare ko toot kar chaaha karate the,
vo kasame likha karatee thee,
aur ham vaade likha karate the.


तुझे बड़ी शिद्दत से चाहा है मैंने,
 तुझे बड़ी मन्नतो से पाया है मैंने, 
तुझे भुलाने की मैं सोच भी नही सकता,
क्योंकि तुझे हाथो की लकीर से चुराया है मैंने।


tujhe badee shiddat se chaaha hai mainne,
 tujhe badee mannato se paaya hai mainne,
tujhe bhulaane kee main soch bhee nahee sakata,
kyonki tujhe haatho kee lakeer se churaaya hai mainne.


मेरे आँखों के ख्वाब और दिल के अरमान हो तुम,
तुझसे ही मैं हूँ मेरी पहचान हो तुम,
मैं अगर जमी हूँ तो मेरा आसमान हो तुम,
सच कहूँ मेरे लिए मेरा जहां हो तुम।
mere aankhon ke khvaab aur dil ke aramaan ho tum,
tujhase hee main hoon meree pahachaan ho tum,
main agar jamee hoon to mera aasamaan ho tum,
sach kahoon mere lie mera jahaan ho tum.


नज़रे करम मुझ पर इतना न कर,
की तेरी मोहब्बत के लिए बागी हो जाऊं,
मुझे इतना न पिला इश्क़-ए-जाम की,
मैं इश्क़ के जहर का आदि हो जाऊं।


nazare karam mujh par itana na kar,
kee teree mohabbat ke lie baagee ho jaoon,
mujhe itana na pila ishq-e-jaam kee,
main ishq ke jahar ka aadi ho jaoon.

टपकती है निगाहों से... झलकती है अदाओं से,
मोहब्बत कौन कहता है की पहचानी नहीं जाती ?
हम से न हो सकेगी मोहब्बत की नुमाइश,
बस इतना जानते है तुम्हे चाहते है हम।
tapakatee hai nigaahon se... jhalakatee hai adaon se,
mohabbat kaun kahata hai kee pahachaanee nahin jaatee ?
ham se na ho sakegee mohabbat kee numaish,
bas itana jaanate hai tumhe chaahate hai ham.


घायल कर के मुझे उसने पूछा,
करोगे क्या फिर मोहब्बत मुझसे,
लहू-लहू था दिल मेरा मगर
होंठों ने कहा बेइंतहा-बेइंतहा।


ghaayal kar ke mujhe usane poochha
karoge kya phir mohabbat mujhase,
lahoo-lahoo tha dil mera magar
honthon ne kaha beintaha-beintaha.


ख्वाहिश-ए-ज़िंदगी बस
इतनी सी है अब मेरी,
कि साथ तेरा हो और
ज़िंदगी कभी खत्म न हो।
khvaahish-e-zindagee bas
itanee see hai ab meree,
ki saath tera ho aur
zindagee kabhee khatm na ho.


निगाहों से खीची है तस्वीर मैने,
जरा अपनी तस्वीर आकर तो देखो,
तुम्हीं को इन आँखो में तुमको दिखाऊँ,
इन आँखो मे आँखे मिलाकर तो देखो।


nigaahon se kheechee hai tasveer maine,
jara apanee tasveer aakar to dekho,
tumheen ko in aankho mein tumako dikhaoon,
in aankho me aankhe milaakar to dekho.


बिन बोले जो तुम कहते हो
बिन बोले ही वो सुन लूँ मैं,
भरके तुमको इन आँखों में
कुछ ख्वाब नए से बुन लूँ मैं।
bin bole jo tum kahate ho
bin bole hee vo sun loon main,
bharake tumako in aankhon mein
kuchh khvaab nae se bun loon main.


महफूज़ रहे तू, ताउम्र तेरे आसपास रहूँ मैं।
तुम मिलोगे सबसे, मगर हमारी ही तलाश में।
हो के तुम मेरे मुझको मुकम्मल कर दो,
किसी काम से आये थे... किसी काम के ना रहे।
मेरी मोहब्बत थी यह या फिर दीवानगी की इन्तहा,
कि तेरे ही पास से गुज़र गया तेरे ही ख्याल से।


mahaphooz rahe too, taumr tere aasapaas rahoon main.
tum miloge sabase, magar hamaaree hee talaash mein.
ho ke tum mere mujhako mukammal kar do
kisee kaam se aaye the... kisee kaam ke na rahe.
meree mohabbat thee yah ya phir deevaanagee kee intaha,
ki tere hee paas se guzar gaya tere hee khyaal se


खड़े-खड़े साहिल पर हमने शाम कर दी,
अपना दिल और दुनिया आप के नाम कर दी,
ये भी न सोचा कैसे गुज़रेगी ज़िंदगी,
बिना सोचे-समझे हर ख़ुशी आपके नाम कर दी।
khade-khade saahil par hamane shaam kar dee,
apana dil aur duniya aap ke naam kar dee,
ye bhee na socha kaise guzaregee zindagee,
bina soche-samajhe har khushee aapake naam kar dee.


Breakup Shayari



मैंने हर एक सांस अपनी तुम्हारे नाम कर दी,
लोगो में ये ज़िन्दगी बदनाम कर दी,
अब ये आइना भी किस काम का मेरे,
मैंने तो अपनी परछाई भी तुम्हारे नाम कर दी।


mainne har ek saans apanee tumhaare naam kar dee,
logo mein ye zindagee badanaam kar dee,
ab ye aaina bhee kis kaam ka mere,
mainne to apanee parachhaee bhee tumhaare naam kar dee.

आरज़ू वस्ल की रखती है परेशाँ क्या क्या,
ग़म अज़ीज़ों का हसीनों की जुदाई देखी,
देखें दिखलाए अभी गर्दिश-ए-दौराँ क्या क्या।
aarazoo vasl kee rakhatee hai pareshaan kya kya,
gam azeezon ka haseenon kee judaee dekhee,
dekhen dikhalae abhee gardish-e-dauraan kya kya.


लेकर नाम मेरा देखो महबूब कितना शरमाया है,
पूछे उनसे मेरी आँखें कितना इश्क है मुझसे,
ज़िन्दगी में किसी का साथ काफी है,
हाथों में किसी का हाथ काफी है,
दूर हो या पास फर्क नहीं पड़ता,
प्यार का तो बस अहसास ही काफी है।
मोहब्बत की हद्द है सितारों से आगे,


lekar naam mera dekho mahaboob kitana sharamaaya hai,
poochhe unase meree aankhen kitana ishk hai mujhase,
zindagee mein kisee ka saath kaaphee hai
haathon mein kisee ka haath kaaphee hai,
door ho ya paas phark nahin padata,
pyaar ka to bas ahasaas hee kaaphee hai.
mohabbat kee hadd hai sitaaron se aage,


प्यार का जहाँ है बहारों से आगे,
वो दीवानों की कश्ती जब बहने लगी,
तो बहते बह गयी किनारों से आगे।
हवा भी गुज़रने के लिए इज़ाज़त मांगे,
हो जाऊं तेरे इश्क़ में मदहोश इस तरह,
कि होश भी वापस आने के इज़ाज़त मांगे।
pyaar ka jahaan hai bahaaron se aage,
vo deevaanon kee kashtee jab bahane lagee,
to bahate bah gayee kinaaron se aage.
hava bhee guzarane ke lie izaazat maange,
ho jaoon tere ishq mein madahosh is tarah,
ki hosh bhee vaapas aane ke izaazat maange.


बस तू ही तू है इस दिल मे दूसरा कोई नही।
कब आ रहे होबातचीत के लिये ऐ सनम,
हमने चाँद रोका है एक रात के लिये।
इस कदर शुमार है दीदार-ए-तलब उनका,
सौ बार भी मिल जाये... अधूरा लगता है।


sa too hee too hai is dil me doosara koee nahee.
kab aa rahe hobaatacheet ke liye ai sanam,
hamane chaand roka hai ek raat ke liye
is kadar shumaar hai deedaar-e-talab unaka,
sau baar bhee mil jaaye... adhoora lagata hai


गम में ख़ुशी की वजह बनी है मोहब्बत,
दर्द में यादों की वजह बनी है मोहब्बत,
जब कुछ भी ना रहा था इस दुनिया में,
तब हमारे जीने की वजह बनी है यह मोहब्बत।
gam mein khushee kee vajah banee hai mohabbat,
dard mein yaadon kee vajah banee hai mohabbat,
jab kuchh bhee na raha tha is duniya mein,
tab hamaare jeene kee vajah banee hai yah mohabbat.


नहीं रही नींद की आरज़ू अब मुझे,
अब रातों को जागना अच्छा लगता है,
मुझे नहीं मालूम वो मेरी किस्मत में है या नहीं,
मगर उसे रब से माँगना अच्छा लगता है।


nahin rahee neend kee aarazoo ab mujhe,
ab raaton ko jaagana achchha lagata hai,
mujhe nahin maaloom vo meree kismat mein hai ya nahin,
magar use rab se maangana achchha lagata hai.

आपको देख कर यह निगाह रुक जाएगी,
ख़ामोशी अब हर बात कह जाएगी,
पढ़ लो अब इन आँखों में अपनी मोहब्बत,
तेरी कसम कायनात इसे सुनने को थम जाएगी।
aapako dekh kar yah nigaah ruk jaegee,
khaamoshee ab har baat kah jaegee,
padh lo ab in aankhon mein apanee mohabbat,
teree kasam kaayanaat ise sunane ko tham jaegee.


तुमने देखा और ये ज़िन्दगी मुस्कुराने लगी,
मोहाब्बत की इन्तहा थी या दीवानगी मेरी,
बस आप रहना हमेशा साथ हमारे तो,
निकलते हुए आँसुओं में भी मुस्कुरा लेंगे हम।


tumane dekha aur ye zindagee muskuraane lagee,
mohaabbat kee intaha thee ya deevaanagee meree,
bas aap rahana hamesha saath hamaare to,
nikalate hue aansuon mein bhee muskura lenge ham.


जाने कहाँ थे और चले थे कहाँ से हम,
बेदार हो गए किसी ख्वाब-ए-गिराँ से हम,
ऐ नौ-बहार-ए-नाज़ तेरी निकहतों की खैर,
दामन झटक के निकले तेरे गुलसिताँ से हम।

jaane kahaan the aur chale the kahaan se ham,
bedaar ho gae kisee khvaab-e-giraan se ham,
ai nau-bahaar-e-naaz teree nikahaton kee khair,
daaman jhatak ke nikale tere gulasitaan se ham.


तेरा नाम लूँ जुबां से तेरे आगे ये सिर झुका दूँ,
मेरा इश्क़ कह रहा है, मैं तुझे खुदा बना दूँ।
इश्क का होना भी लाजमी है शायरी के लिये,
कलम लिखती तो दफ्तर का बाबू भी ग़ालिब होता।


tera naam loon jubaan se tere aage ye sir jhuka doon,
mera ishq kah raha hai, main tujhe khuda bana doon.
ishk ka hona bhee laajamee hai shaayaree ke liye,
kalam likhatee to daphtar ka baaboo bhee gaalib hota.

लाखो अदाओ की अब जरुरत ही क्या है
जब वो फिदा ही हमारी सादगी पर है।
तेरी आँखों में मेरा इंतज़ार है
तुम्हें भी इश्क़ है तो खुलके बता दो।
तेरी आँखों में रब दिखता है
क्यूँकि सनम मेरा दिल तेरे लियें धड़कता है।
laakho adao kee ab jarurat hee kya hai
jab vo phida hee hamaaree saadagee par hai.
teree aankhon mein mera intazaar hai
tumhen bhee ishq hai to khulake bata do.
teree aankhon mein rab dikhata hai
kyoonki sanam mera dil tere liyen dhadakata hai.


नजर में आपकी नज़ारे रहेंगे हमेशा,
पलकों पर चाँद सितारे रहेंगे,
बदल जाये तो बदले ये ज़माना सारा,
हम तो हमेशा आपके दीवाने रहेंगे।


najar mein aapakee nazaare rahenge hamesha,
palakon par chaand sitaare rahenge,
badal jaaye to badale ye zamaana saara,
ham to hamesha aapake deevaane rahenge.


दिल चाहता है तुमसे प्यारी सी बात हो,
खामोश तराने हों लंबी सी रात हो,
फिर उनसे रात भर यही मेरी बात हो,
तुम मेरी सास हो, तुम ही मेरी ज़िंदगी हो।
dil chaahata hai tumase pyaaree see baat ho,
khaamosh taraane hon lambee see raat ho,
phir unase raat bhar yahee meree baat ho,
tum meree saas ho, tum hee meree zindagee ho.


Sad Hindi Shayari  - दर्द शायरी 


कहीं अँधेरा तो कहीं ज़िन्दगी की शाम होगी,
मेरी हर ख़ुशी तेरे नाम होगी,
कुछ मांगकर तो देख हमसे ऐ सनम,
सारी जिंदगी तेरे नाम होगी।


kaheen andhera to kaheen zindagee kee shaam hogee,
meree har khushee tere naam hogee,
kuchh maangakar to dekh hamase ai sanam,
saaree jindagee tere naam hogee


उनके दीदार के लिए दिल तड़पता रहता है,
उनके इंतजार में दिल तरसता रहता है,
क्या कहें इस कम्बख्त दिल को,
मेरी हो कर भी और के लिए धड़कता है।
unake deedaar ke lie dil tadapata rahata hai,
unake intajaar mein dil tarasata rahata hai,
kya kahen is kambakht dil ko,
meree ho kar bhee aur ke lie dhadakata hai.


वो सुर्ख लब और उनपर जालिम अंगडाईयां,
तू ही बता ये दिल मरता ना तो क्या करता।
बैठे रहो सामने दिल को करार आयेगा,
जितना देखेंगे तुम्हे उतना ही प्यार आयेगा।


vo surkh lab aur unapar jaalim angadaeeyaan,
too hee bata ye dil marata na to kya karata.
baithe raho saamane dil ko karaar aayega
jitana dekhenge tumhe utana hee pyaar aayega.

चाहत इतनी रखो की जी सभल जाए , अब
इस कदर भी ना चाहो कि दम निकल जाये।
दूर होकर भी जो शख्स समाया है मेरी रूह में,
पास वालों पर वो कितना असर रखता होगा।
chaahat itanee rakho kee jee sabhal jae , ab
is kadar bhee na chaaho ki dam nikal jaaye.
door hokar bhee jo shakhs samaaya hai meree rooh mein,
paas vaalon par vo kitana asar rakhata hoga.


हम तो तेरी आवाज़ से प्यार करते हैं,
तस्सवुर में तेरे तन्हाइयों से प्यार करते हैं,
जो मेरे नाम से तेरे नाम को ज़माने वाले,
उन चर्चों से अब हम प्यार करते हैं।


ham to teree aavaaz se pyaar karate hain,
tassavur mein tere tanhaiyon se pyaar karate hain,
jo mere naam se tere naam ko zamaane vaale,
un charchon se ab ham pyaar karate hain.


कोई तीर जैसे दिल के पार हुआ है,
जाने क्यों इतना बेक़रार हुआ है दिल,
पहले कभी देखा न मैंने तुम्हें,
फिर भी ऐ इस कदर तुमसे प्यार हुआ है।
koee teer jaise dil ke paar hua hai,
jaane kyon itana beqaraar hua hai dil,
pahale kabhee dekha na mainne tumhen,
phir bhee ai is kadar tumase pyaar hua hai.


ऐसा क्या बोलूं कि तेरे दिल को छू जाए,
ऐसी किससे दुआ मांगू कि तू मेरी हो जाए,
तुमको पाना नहीं तेरा हो जाना है सनम मेरी,
ऐसा क्या कर दूं कि ये दिल पूरी हो जाए।


aisa kya boloon ki tere dil ko chhoo jae,
aisee kisase dua maangoo ki too meree ho jae,
tumako paana nahin tera ho jaana hai sanam meree,
aisa kya kar doon ki ye dil pooree ho jae.

इश्क के ये कैसे अफ़साने हुए,
खुद नज़रों में अपनी बेगाने हुए,
अब ज़माने की नहीं कोई परवाह हमें,
इश्क़ में तेरे इस कदर दीवाने हुए।
ishk ke ye kaise afasaane hue,
khud nazaron mein apanee begaane hue,
ab zamaane kee nahin koee paravaah hamen,
ishq mein tere is kadar deevaane hue.


वो सपना फिर से सजाने चला हूँ,
उमीदों के सहारे दिल लगाने चला हूँ,
पता है कि अंजाम बुरा ही होगा मेरा,
फिर भी किसी को अपना बनाने चला हूँ।


vo sapana phir se sajaane chala hoon,
umeedon ke sahaare dil lagaane chala hoon,
pata hai ki anjaam bura hee hoga mera,
phir bhee kisee ko apana banaane chala hoon.


किसी पहाड़ में मूर्त है, कोई मिटटी की मूर्त है,
लो हम ने देख ली दुनिया, जो इतनी खूबसूरत है,
दुनिया अपना न समझे कभी पर मुझे खबर है,
कि तुझे मेरी ज़रूरत है और मुझे तेरी ज़रूरत है।
kisee pahaad mein moort hai, koee mitatee kee moort hai,
lo ham ne dekh lee duniya, jo itanee khoobasoorat hai,
duniya apana na samajhe kabhee par mujhe khabar hai,
ki tujhe meree zaroorat hai aur mujhe teree zaroorat hai.



लोग कहते हैं उसको खुदा की इबादत है,
ये मेरी समझ में तो एक जहालत है,
रात जाग के गुजरे, दिल को चैन न आए,
जरा बताओ दोस्तों क्या यही मोहब्बत है।


log kahate hain usako khuda kee ibaadat hai,
ye meree samajh mein to ek jahaalat hai,
raat jaag ke gujare, dil ko chain na aae,
jara batao doston kya yahee mohabbat hai.


क्या आप नहीं जानते हो सनम,
दिल का दर्द दबता नहीं है दबाने से,
आपको मोहब्बत का इज़हार करना ही पड़ेगा,
क्योंकि मोहब्बत छुपती नहीं छुपाने से।
kya aap nahin jaanate ho sanam,
dil ka dard dabata nahin hai dabaane se,
aapako mohabbat ka izahaar karana hee padega,
kyonki mohabbat chhupatee nahin chhupaane se.


कभी तेरी बातें कभी तेरे लफ्ज़ भूल जाऊं,
इस कदर मोहब्बत है तुझसे खुदको खो जाऊं,
तेरे पास से जब मैं चल दूँ ऐ मेरे हrदम,
जाते जाते खुद को तेरे पास खो जाऊं।


kabhee teree baaten kabhee tere laphz bhool jaoon,
is kadar mohabbat hai tujhase khudako kho jaoon,
tere paas se jab main chal doon ai mere hardam,
jaate jaate khud ko tere paas kho jaoon.


मोहब्बत भी शराब के नशा जैसी है दोस्तों,
करें तो किधर जाएँ और छोड़े तो मर जाएँ।
मेरे दिल को अब कोई जगह नहीं रहा,
कि तस्वीर-ए-यार हमने हर तरफ लगा रखी है।
mohabbat bhee sharaab ke nasha jaisee hai doston,
karen to kidhar jaen aur chhode to mar jaen.
mere dil ko ab koee jagah nahin raha,
ki tasveer-e-yaar hamane har taraph laga rakhee hai.


नजरें मिलती हैं तुझसे इस कदर खो जाते हैं,
जैसे बच्चे भरे बाज़ार में खो जाते हैं।
तुझको हज़ार शर्म सही मुझ को लाख ज़ब्त,
मोहब्बत वो राज़ है कि छुपाया न जाएगा।


najaren milatee hain tujhase is kadar kho jaate hain,
jaise bachche bhare baazaar mein kho jaate hain.
tujhako hazaar sharm sahee mujh ko laakh zabt,
mohabbat vo raaz hai ki chhupaaya na jaega.


अगर आपको Hindi Shayari collocation ☺पसंद आया तो आपने दोस्तों को बताके सेर करना ना भूलियगा अच्छा हैं बुरा हैं कमेंट करके जरूर बताए आपका राय आपका मत ही हमारा लिए अच्छा  बनानेका ताकत मिलता हैं। 

Post a comment

0 Comments